Tuesday, October 18, 2005

परिचय



नित्यानन्द तुषार
जन्म- 31-10-1963
माँ- श्रीमती अनसुइया देवी
पिता- स्व॰ श्री कान्ती प्रसाद शर्मा
शिक्षा- एम.ए.(हिन्दी)
प्रकाशन-
सन् 1979 से देश के लगभग सभी महत्वपूर्ण साहित्यिक, व्यावसायिक(60 से अधिक) पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशन हुआ।निम्न संकलनों में संकलित-( १) नवीनतम हिन्दी ग़जलें (२) रंगारंग मुशायरा (३) सब रंग (४) लोकप्रिय हिन्दी ग़जलें (५) हिन्दी की चर्चित ग़जलें (६) साद्रश्य (७) गाजियाबाद के साहित्यकार(८) नई सदी के प्रतिनिधि ग़जलकार (९) ग़जल से ग़जल तक (१०) ख़ूबसूरत ग़जलें (११) नया ज़माना नई ग़जलें (१२) बेमिसाल ग़जले (१३) ग़जले हिन्दुस्तानी (१४) शेर ही शेर (१५) चुने हुए शेर (१६) रंगा रंग दोहे (१७) हाइकु-1999
मौलिक संग्रह-
* दूरियों के दिन (प्रथम संस्करण-1992, द्वितीय संस्करण 2000)
* सितम की उम्र छोटी है (प्रथम संस्करण-1996, चतुर्थ संस्करण 2005)
* वो ज़माने अब कहाँ (प्रथम संस्करण-2000, चतुर्थ संस्करण 2004)
संपादित संग्रह-
*हिन्दी के तीन ग़जलकारों के प्रथक प्रथक संग्रह
*बेमिसाल ग़जलें.खूबसूरत ग़जलें, आधुनिक ग़ज़लें
प्रसारण-
*आकाशवाणी दिल्ली के युववाणी कार्यक्रम में (1979 से 1995 तक)
*आकाशवाणी दिल्ली के कार्यक्रम 'स्वर बेला' एवं 'साहित्यिकी' में काव्यपाठ *आकाशवाणी लखनऊ के कार्यक्रम 'गीत माधुरी' में काव्यपाठ
*आकाशवाणी दिल्ली की विदेश प्रसारण सेवा में काव्यपाठ
*आकाशवाणी आगरा के कार्यक्रम में काव्यपाठ
*आकाशवाणी मुम्बई के कार्यक्रम में काव्यपाठ
*आकाशवाणी मुम्बई द्वारा आयोजित स्वाधीनता की स्वर्ण जयन्ती पर आयोजित कवि सम्मेलन भी काव्यपाठ
सुगम संगीत-
*आकाशवाणी दिल्ली ने सुगम संगीत हेतु गीत लिये रिकार्ड किये समय समय प्रसारण *आकाशवाणी दिल्ली द्वारा स्पेशल रिकार्डिग भी की गई
*लखनऊ दूरदर्शन के कार्यक्रम हस्ताक्षर में 20 मिनट का साक्षात्कार प्रसारित उसमें गीत भी पढ़े तथा उन्हीं गीतों की संगीतात्मक प्रस्तुति लखनऊ दूरदर्शन के कलाकारों द्वारा की गई।
* तेरी चाहत म्युजिक एलवम के गीत लिखे
टी.वी.सीरियल-
*टी.वी.सीरियल 'एनरायड ज्वाला' का शीर्षक गीत लिखा जो कि तीन जनवरी को 1999 से उत्तर प्रदेश चैनल(दूरदर्शन) से प्रसारित हुआ एन॰डी॰टी॰वी॰ के कार्यक्रम अर्ज किया है' में काव्य पाठ सब टी॰वी॰ के कार्यक्रम 'वाह-वाह, 'लाइव इण्डिया, दूरदर्शन (डी॑ डी॑-1) पर काव्य-पाठ।
सेमीनार-
सेमीनार चर्चा गोष्ठियों में सक्रिय सहभागिता
कवि सम्मेलन-
दिल्ली, मुम्बई, हैदराबाद, कानपुर, पटना, चितरंजन, भिलाई सहित देश के अनेक नगरों में काव्य पाठ तथा श्रोताओं का भरपूर प्यार। हिन्दी काव्य मंच पर सशक्त ग़जलकार के रूप में श्रोताओं का प्यार। हिन्दी अकादमी दिल्ली द्वारा आयोजित कवि सम्मेलन में कई बार आमंत्रित। विश्व पुस्तक मेला नई दिल्ली में आयोजित कवि सम्मेलन में काव्य पाठ।
विशेष-
ससंद से सड़कों तक अनेक शेंर लोगों की ज़बान पर हैं बहुधा उल्लेख किया जाता है। वरिष्ठ नेता श्री विजय कुमार मल्होत्रा द्वारा संसद में कवि की निम्न पंक्तियाँ प्रधानमंत्री माननीय श्री नरसिंहा राव जी को सुनाई गई-
तुम्हें ख़ूबसूरत नज़र आ रहीं हैं
ये राहें तबाही के घर जा रहीं हैं।
साहित्य आकादमी दिल्ली के हू-ज-हू आफ इण्डियन राइटर्स में उल्लेख सहित ऐशिया पैसिफिक, व अन्य अनेक डाइरेक्ट्रीज में उल्लेख
संपादन-
साहित्यिक पत्रिका 'वंशिकालय' का संपादन
पुरस्कार-
ए॰बी॰आई॰ रिसर्च बोर्ड यू.एस.ए. द्वारा 'मैन आफ दि इयर'।
देश में काई नहीं।
अन्य-
कवि सम्मेलन संयोजक। प्रारम्भ प्रकाशन गाज़ियाबाद के परामर्श दाता।
सम्पर्क-
आर-64, सैक्टर-12
प्रताप विहार
गाज़ियाबाद201009 (उ.प्र)
दूरभाष- 0120-2742464
मोबा॰- 9968046643

जालघर - www.nityaanandtushar.blogspot.com

ई मेल- nityanandtushar@yahoo.co.in

***


0 Comments:

Post a Comment

<< Home